Shyam Baba Shayari : श्याम बाबा शायरी भगवान कृष्ण के प्रति भक्ति और प्रेम को खूबसूरती से दर्शाती है। हार्दिक शब्दों और अभिव्यंजक छंदों के माध्यम से, यह भक्त की आध्यात्मिक यात्रा और परमात्मा के साथ उनके गहरे संबंध को जीवन में लाता है। श्याम बाबा शायरी का सार भावनाओं को जगाने, विश्वास को प्रेरित करने और हमें भक्त और प्रिय देवता के बीच शाश्वत बंधन की याद दिलाने की क्षमता में निहित है। चाहे वह खुशी, दुःख या लालसा के क्षणों में हो, श्याम बाबा शायरी भक्तों के साथ गूंजती रहती है, जो उनके आध्यात्मिक मार्ग पर सांत्वना और प्रेरणा के स्रोत के रूप में कार्य करती है। कविता की शक्ति के माध्यम से, यह व्यक्तियों को श्याम बाबा के प्रति अपनी श्रद्धा और भक्ति को वास्तव में आकर्षक तरीके से व्यक्त करने की अनुमति देता है।

बीमारे मोहब्बत हूँ दवा मांग रहा हूँ
सरकार के दामन की हवा मांग रहा हूँ
जंजीर बांध कर मुझे ले चलिये खाटूधाम
मुजरिम हूँ आपके दर्शन की सजा मांग रहा हूँ
।। जय श्री श्याम।।


Khatu Shyam Ke Upar Shayari

कृपा तेरी होती है पर दिखती नहीं है
तकलीफ आती है मगर टिकती नहीं है
तेरा साया है सदा साथ हमारे
तेरी नजर पड़ती मगर दिखती नहीं
।। जय श्री श्याम।।


Khatu Shyam Shayari

हारे का सहारा है ये, इससे ज्यादा कोई
राज नहीं जिसके सिर पर हाथ हो इसका
इससे महंगा कोई ताज नहीं
।। जय श्री श्याम।।

Hare ka sahara ha ye isse jyada koi
Raj ni jiske sir pr hath ho iska Isse
mehenga koi taj ni Jai Shri Shyam.


सुन मेरे खाटू श्याम वो एक तेरा नाम है
जो बनाता हम सब भक्तो के बिगड़े काम है।

ख्वाबों की सजी थी महफिल, पर हसरत नीलाम हो गई
तूने एक नजर क्या देखा सांवरे, मेरी रूह तक आपकी गुलाम हो गई
।। जय श्री श्याम।।


श्याम दीवानी शायरी
कर दिया है बेफिक्र तूने, फिक्र अब मैं कैसे करूँ
फिक्र तो यह है कि तेरा शुक्र कैसे करूँ
।। जय श्री श्याम।।


किस्मत बदलना जिनके हाथ में है
वे श्याम सलोना मेरे साथ में है
।। जय श्री श्याम।।

Kismat badalna jiske hath
me ha be shyam salona mere
sath hai, Jay shri shyam.


Khatu Shyam Baba Shayari

दिल में नेकी हो तो आँखों में चमक होती है
ऐसी आँखों में ही मेरे “श्याम” की झलक होती है

।। जय श्री श्याम।।


महक उठेगा मेरा चमन खाटू के दर्शन से
लौट आएगी खुशबू खाटू के दर्शन से
।। जय श्री श्याम।।


माटी का शरीर तेरा, एक दिन माटी में ही मिल जायेगा,
ले शरण बाबा “श्याम” की, तेरा जीवन सफ़ल हो जायेगा।
।। जय श्री श्याम।।


जिन आंखों को श्याम के दर्शन की आदत हो,
वो आंखे अपने मुक्कदर पे रोया नहीं करती।।
।। जय श्री श्याम।।

(Visited 280 times, 1 visits today)
Previous Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *