Zakhmi  Shayari Hindi

Dilक्या रखा है सुनने और सुनाने में,
किसी ने कसर नहीं छोड़ी दिल दुखाने में.

Zakhmi Dil Shayari

मौत पर भी है यकीन उन पर भी ऐतबार है,
देखते है पहले कौन आता है… दोनों का इन्तजार है.

Dil Zakhmi Shayari

दिल ना-उमीद तो नहीं नाकाम ही तो है
लम्बी है ग़म की शाम मगर शाम ही तो है
फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

किन लफ्जों में बयाँ करूं
अपने दिल के दर्द को ऐ जिंदगी,
सुनने वाले तो बहुत है
समझने वाला कोई नहीं.

रोते रोते दिन कटता है तड़प कर रात,
भूल न पाता एक घडी ही प्यारी तेरी बात…!!

Zakhmi Dil Status

तुम ने जाना था और मैंने जाने दिया,
इससे ज्यादा मैं और क्या वफ़ा करता…!!

जिस जिस को मिली खबर सबने
एक ही सवाल किया, तुमने क्यों
मोहब्बत की तुम तो समझदार थे।
jis jis ko mili khabar sbne ek hi
sawal kiya tumne kyun mohabbat
ki tum to samjhdar the.

मैंने देखा है टूटा हुआ आदमी
अकेला ही रहना पसंद करता है।
Maine Dekha Hai Toota Hua Aadmi
Akela He Rahna Pasand Karta Hai.

(Visited 79 times, 1 visits today)
Zakir Khan Shayari
Previous Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *