Independence Day Shayari
Hindi Shayari

Independence Day Shayari

Aug 8, 2023

Happy Independence Day Shayaris beautifully capture the essence of patriotism, freedom, and unity. They serve as a reminder of the sacrifices made by our brave heroes and the significance of this important day. Whether shared with friends, family, or the entire nation, these Shayaris are a heartfelt way to express our love for our country and celebrate our hard-earned independence. May we always cherish the spirit of freedom and continue to strive for a brighter future for our beloved nation. Happy Independence Day!

Independence Day Shayari In Hindi

याकीन करो या ना करो
मगर बात याकीन की है
मेरी जिस्म में मिट्टी सिर्फ
और सिर्फ इस जमीन की है।

आज के दिन उस मंज़र को याद करे
शहीदो की देश भक्ति कोयाद करे
जब मिली थी आजादी हमकोखून के बदले
आओ उन देश प्रेमियो कोयाद करे।

Independence Day Shayari In English

Aaj ke din hame ek naya
Savera mila tha
Aankho mee the aasu par
Chehra khila tha
Iss ehsaas kob kabhi bhi
Khone mat dena
Isse pane ke liye kitno ka
Khoon nikla tha..!

आज के दिन हमें एक नया
सवेरा मिला था
आंखो में थे आसू पर
चहरा खिला था
इस एहसास को कभी भी
खाने मत देना
इसे पाने के लिए कितनो का
खून निकला था।

इस देश के गौरव के खातिर,
चल कुछ ऐसा काम करें,
दुनिया देखे इसकी शान,
और दुनिया वाले सलाम करें।
15 अगस्त यानी आज़ादी की शुभ कामनाएँ।

चड़ गये जो हंसकर सूली;
खाई जिन्होने सीने पर गोली;
हम उनको प्रणाम करते हैं!
जो मिट गये देश पर;
हम सब उनको सलाम करते हैं!
स्वतंत्रता दिवस की बधाई!

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिन्दुस्तान का सम्मान का है।

ये बात हवाओं को भी बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को भी जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत की हमने,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

अब तक जिसका खून न खौला,
वो खून नहीं वो पानी है,
जो देश के काम ना आये,
वो बेकार जवानी है !

Happy Independence Day Shayari

क्यों जीते हो धर्म के नाम पर,
क्यों मरते हो धर्म के नाम पर,
बन जाओ इंसान और जिओ,
इस वतन के नाम पर !

देशभक्तों से ही देश की शान है
देशभक्तों से ही देश का मान है
हम उस देश के फूल हैं यारों
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है।

नजारे नजर से ये कहने लगे
नयन से बड़ी कोई चीज नहीं
तभी मेरे दिल ने ये आवाज दी
वतन से बड़ी कोई चीज नहीं

वतन पर जो फिदा होगा,
अमर वो हर नौजवान होगा,
रहेगी जब तक दुनिया ये,
अफसाना उसका बयाँ होगा।

मुझे तन चाहिए ना धन चाहिए,
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए,
जब तक जिंदा हूं मातृभूमि के लिए,
और जब मरू तो तिरंगा कफन चाहिए।

Heart Touching Shayari On Independence Day In Hindi

इस वतन के रखवाले हैं हम,
शेर ए जिगर वाले हैं हम,
मौत से हम नहीं डरते,
मौत को बाँहों में पाले हैं हम।
वन्दे मातरम

फरिस्ते सिर्फ आसमान में नहीं रहते हैं,
जमीन ए हिंद पर उन्हें जवान कहते हैं।
Happy Independence day

बर्फ के पहाड़ों पर आग सा जलता है,
रेत के रेगिस्तान में वो हिम सा ठहरता है।
एक फौजी ही तो है जनाब,
जो देश पर मर कर भी जिंदगी जी जाता है।।

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है
– बिस्मिल अज़ीमाबादी

इसी जगह इसी दिन तो हुआ था ये एलान
अँधेरे हार गए ज़िंदाबाद हिन्दोस्तान
– जावेद अख़्तर

Best Shayari On Independence Day In Hindi

सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इस की ये गुलसिताँ हमारा
– अल्लामा इक़बाल

चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में हैं,
इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं,
मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं,
कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं.

दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं..!!
Jai Hindi, Jai Bharat

लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर
भारत का ही नाम होगा सबकी जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर
कोई जो उठाएगा आँख हिंदुस्तान पर

आओ देश का सम्मान करें…
शहीदों की शहादत याद करे
एक बार फिर से राष्ट्र की कमान,
हम हिंदुस्तानी अपने हाथ धरे,
आओ स्वतंत्रता दिवस का मान करे

काँटों में भी फूल खिलाएं
इस धरती को स्वर्ग बनायें,
आओ सब को गले लगायें
हम स्वतंत्रता दिवस का पर्व मनाएं।

विकसित होता राष्ट्र हमारा
रंग लाती हर कुर्बानी है,
फक्र से अपना परिचय देते
हम सारे हिंदुस्तानी हैं।
आज़ादी मुबारक हो

Happy Independence Day Shayari Hindi

अब तक जिसका खून न खौला
वो खून नहीं वो पानी है
जो देश के काम ना आये
वो बेकार जवानी है

ना हिन्दू बन कर देखो
ना मुस्लिम बन कर देखो
बेटों की इस लड़ाई में
दुःख भरी भारत माँ को देखो

ना सिर झुका है कभी
और ना झुकायेंगे कभी
जो अपने दप पे जिये
सच में जिन्दगी है वही
एक सच्चे भारतीय की तरह जियो.
जय हिंद।।

मिट्टी की मोहब्बत में हम आशुफ़्ता-सरों ने
वो क़र्ज़ उतारे हैं कि वाजिब भी नहीं थे

लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है
उछल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी

(Visited 177 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *